5 सालों के अंदर चीनी सौर उपकरणों को भारत से बाहर निकाल देंगे: गौतम अडानी

दिग्गज कारोबारी कंपनी अडानी ग्रुप के मालिक गौतम अडानी ने कहा है कि आने वाले 5 साल के अंदर चीन से आयात होने वाले सौर उपकरणों को भारत से बाहर निकाल देंगे।अडानी ने कहा,"देश तेजी से आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ रहा है।चीनी उपकरणों का आयात जो फिलहाल 90% है,आने वाले वर्षों में 50% तक गिर जाएगा,और अंततः शून्य होगा।3-5 वर्षों में, यह नगण्य होगा"।उन्होंने ये भी कहा कि वे सौर ऊर्जा उपकरणों कि मैन्युफैक्चरिंग के लिए एक्विटी और स्ट्रेटेजिक पार्टनर्स ढूंढ रहे हैं।

image source-google | image by-U.S. Embassy New Delhi

पिछले दिनों ही मिली है दुनिया का सबसे बड़ा सौर ऊर्जा Project :
गौरतलब है कि अडानी समूह के अडानी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड ने पिछले दिनों घोषणा की थी कि उसे Solar Energy Corporation of India(SECI) द्वारा 8 गीगावॉट का Photovoltaic पावर प्लांट बनाने का कॉन्ट्रैक्ट मिला है।साथ ही 2 गीगावॉट का Domestic Solar Panel बनाने का भी कॉन्ट्रैक्ट मिला है।अडानी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड ने ये कॉन्ट्रेक्ट 6 अरब डॉलर यानी करीब 45300 करोड़ रुपए की बोली लगाकर जीती थी।इस कॉन्ट्रैक्ट के लिए पिछले साल नवंबर में बोली लगाई गई थी जिसका नतीजा अब आया है।

साल 2025 तक 25 गीगावॉट उत्पादन क्षमता तैयार करना है लक्ष्य :
अडानी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड(AGEL) ने बताया कि कंपनी का लक्ष्य साल 2025 तक 25 गीगावॉट क्षमता तक उत्पादन करने का लक्ष्य है।इसके लिए कंपनी ने अगले पांच सालों में Renewable Energy क्षेत्र में 1,12,000 करोड़ रुपए निवेश करने की योजना बनाई है। इसके साथ ही अडानी समूह Renewable Energy के क्षेत्र में विश्व की नंबर एक कंपनी बन जाएगी।साथ ही साथ कंपनी ने यह भी बताया कि इस परियोजना के चालू होने से जीवनकाल में कार्बन डाईऑक्साइड के उत्सर्जन में 90 करोड़ टन की कमी आएगी.

परियोजना से 4 लाख से अधिक पैदा होंगी नौकरियां:
कंपनी ने कहा कि 8 गीगावॉट के सोलर पावर प्रोजेक्ट और 2 गीगावॉट के सोलर सेल मैन्युफैक्चरिंग के प्लांट से करीब 4 लाख नौकरियां पैदा होंगी।इस पर अडानी समूह के अध्यक्ष गौतम अडानी ने कहा,'यह Contract हमारे देश द्वारा जलवायु परिवर्तन के संबंध में किए गए वादों को पूरा करने के साथ ही आत्मनिर्भर भारत अभियान को साकार करने की दिशा में एक और कदम है.'

राजस्थान और गुजरात में लग सकती है प्लांट:
माना जा रहा है कि ये प्लांट राजस्थान और गुजरात में लगाए जाएंगे।राजस्थान सरकार ने जैसलमेर, बीकानेर, जालोर और बाडमेर में Solar Plant लगाने की मंजूरी भी दे दी है। वहीं गुजरात के कच्छ में प्लांट लगाया जा सकता है।

इस खबर से संबंधित खोजें:
अडानी ग्रीन शेयर की कीमत :Adani Green Share price
अडानी ग्रीन एनर्जी : Adani Green Energy
विश्व की सबसे बड़ी सौर बोली : World’s Largest Solar Bid

9 टिप्पणियां

bookwaale ने कहा…
sahi hai
nirbhay ने कहा…
dekhte hain kya hota hai..
अनाम ने कहा…
thik hi rahega
captain ने कहा…
wo to aage pata chalega
robin1 ने कहा…
Adani Group
अनाम ने कहा…
WORLD’S LARGEST SOLAR BID
robin2 ने कहा…
Adani Green Energy
nk ने कहा…
Environment would be much cleaner
robin ने कहा…
so they are boycotting china