image source : needpix.com  image by: geralt

बढ़ती आबादी ना सिर्फ किसी देश के लिए बल्कि पूरे विश्व के लिए एक चुनौती है। जिस तरह से वैश्विक आबादी बढ़ रही है इसी को ध्यान में रखकर यूनाइटेड नेशंस हर साल 11 जुलाई को समूचे विश्व को जनसख्या नियंत्रण को लेकर अधिक गंभीर होने का सन्देश देती है। विश्व जनसंख्या दिवस हर साल 11 जुलाई को मनाया जाता है और सर्वप्रथम इसकी शुरुआत यूनाइटेड नेशंस के Governing Council द्वारा सन 1989 में की गई थी। 

वर्तमान में पूरे विश्व की आबादी करीब 780 करोड़ है जो 2030 तक बढ़कर 1100 करोड़ से भी अधिक होने का अनुमान है। आइये जानते है विश्व की सर्वाधिक जनसंख्या वाले टॉप 10 देश के बारे में जहां विश्व के लगभग 60 प्रतिशत आबादी रहती है।

image credit:unsplash.com
1.चीन
   कुल आबादी - 143 करोड़
चीन विश्व की सर्वाधिक आबादी वाला देश है और पूरे विश्व के लगभग 18.70 प्रतिशत लोग यहां रहते हैं।रूस,कनाडा और अमेरिका के बाद चीन क्षेत्रफल की दृष्टि से दुनिया का चौथा सबसे बड़ा देश भी है।बढ़ती आबादी को रोकने और जनसंख्या नियंत्रण के लिए चीन की सरकार ने कई कदम उठाए हैं।

image source: unsplash.com
2.भारत
   कुल आबादी - 138 करोड़
भारत विश्व में जनसंख्या की दृष्टि से चीन के बाद दूसरे स्थान पर है।भारत की जनसंख्या पिछले कुछ दशकों में बहुत तेज़ी से बढ़ी है और आने वाले सालों में चीन को पीछे छोड़कर विश्व को सर्वाधिक आबादी वाला देश बन जाएगा।हालांकि भारत में जनसंख्या नियंत्रण को लेकर कई जागरूकता अभियान चलाए जा रहे है और पिछले एक दशक में जनसंख्या वृद्धि दर में कमी आई है। 

image credit:unsplash.com
3.अमेरिका
   कुल आबादी - 33 करोड़
भारत और चीन के बाद संयुक्त राज्य अमेरिका विश्व की तीसरी सबसे बड़ी जनसंख्या वाला देश है।क्षेत्रफल की दृष्टि से भी अमेरिकी रूस और कनाडा के बाद तीसरा सबसे बड़ा देश है।हालांकि जनसंख्या घनत्व के आधार पर अमेरिका अभी भी चीन और भारत के मुकाबले अच्छी स्थिति में है।

image credit:unsplash.com
4.इंडोनेशिया
   कुल आबादी - 27 करोड़
इंडोनेशिया जनसंख्या के आधार पर दुनिया का चौथा सबसे बड़ा देश है।इंडोनेशिया एक इस्लामिक देश है जहां 85 प्रतिशत से भी अधिक मुस्लिम रहते हैं।ये देश भी अपनी बढ़ती जनसंख्या से परेशान है चूंकि पिछले कुछ दशकों में इस देश की आबादी बहुत तेज़ी से बढ़ी है।

image credit:unsplash.com
5.पाकिस्तान
   कुल आबादी - 22 करोड़
चीन और भारत के बाद पाकिस्तान एशिया महाद्वीप का सबसे अधिक जनसंख्या वाला तीसरा देश है।पाकिस्तान एक इस्लामिक देश है जहां 90 प्रतिशत से भी अधिक आबादी मुस्लिम की है।पाकिस्तान की आबादी भी पिछले कुछ दशकों में बहुत तेज़ी से बढ़ी है जिससे वहां गरीबी और बेरोज़गारी भी बढ़ रही है।


image credit:unsplash.com
6.ब्राज़ील
   कुल आबादी - 21 करोड़
ब्राज़ील दुनिया की छठी सबसे बड़ी जनसंख्या वाला देश है।दक्षिण अमेरिका महाद्वीप के सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश ब्राज़ील क्षेत्रफल के आधार पर भी दुनिया का पांचवा सबसे बड़ा देश है।ब्राज़ील गरीबी से भी काफी हद तक ग्रस्त है चूंकि ब्राज़ील में गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले लोग दिन प्रतिदिन बढ़ रहे है। 


images credit:unsplash.com
7.नाइजीरिया
   कुल आबादी - 20.5 करोड़
नाइजीरिया अफ्रीका महाद्वीप के सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश है।इस देश की आबादी 20.5 करोड़ है जो दुनिया की कुल जनसख्या के करीब 2.54 प्रतिशत है।वर्तमान में सबसे तेज गति से जनसंख्या वृद्धि करने वाला देश नाइजीरिया है, जिसके वर्ष 2050 तक अमेरिका को पीछे छोड़कर तीसरे स्थान पर पहुंचने की संभावना है।

image credit:unsplash.com
8.बांग्लादेश
   कुल आबादी - 16.5 करोड़
बांग्लादेश की कुल आबादी 16.5 करोड़ है और जनसंख्या घनत्व के दृष्टि से विश्व में शीर्ष पर है। बांग्लादेश की आबादी भी पिछले कुछ दशकों में बहुत तेज़ी से बढ़ी है।हालांकि पिछले कुछ सालों में वहां की सरकार ने जनसंख्या विस्फोट पर अभूतपूर्व सफलता अर्जित की है।जागरूकता अभियान और परिवार नियोजन  के तहत बांग्लादेश ने अपनी आबादी पर नियंत्रण पाने में सफलता पाई है।

image credit:unsplash.com
9.रूस
   कुल आबादी - 14.5 करोड़
रूस क्षेत्रपाल की दृष्टि से दुनिया का सबसे बड़ा देश है।रूस की आबादी लगभग 14.5 करोड़ है, हालांकि पिछले एक दशक में रूस की कुल आबादी में गिरावट आई है।रूस की जनसंख्या हर साल 7 से 8 लाख तक घटती जा रही है।रूस में मृत्यु दर जन्म दर से अधिक होने से वहां जनसंख्या संकट जैसी स्थिति है।

image credit:unsplash.com
10.मेक्सिको
     कुल आबादी - 13 करोड़
मेक्सिको जनसंख्या के आधार पर विश्व का दसवां सबसे अधिक आबादी वाला देश है।मेक्सिको की आबादी पिछले साल ही जापान को पीछे छोड़कर दसवें स्थान पर पहुंची है।मेक्सिको की सरकार भी जनसंख्या नियंत्रण को लेकर लोगों में जागरूकता ला रही है।

विश्व जनसंख्या दिवस को मनाना तभी सार्थक होगा जब हम बढ़ती जनसंख्या के प्रति जागरूक रवैया अपनाएं और इसके विभिन्न पहलुओं व हितों पर ध्यान देते हुए जनसंख्या विस्फोट में कमी लाने का प्रयास करें।